जीवन में आजीविका को अनुकूल कैसे बनाये

 जीवन में आजीविका को अनुकूल कैसे बनाये-सही आजीविका उद्देश्य

जीवन में आजीविका को अनुकूल कैसे बनाये

जीवन में आजीविका को अनुकूल कैसे बनाये-सही आजीविका अपने जीवन उद्देश्य, जीवन कौशल शिक्षा विकासशील लक्ष्यों के लिए, विकासशील व्यक्तियों की पसंद, आजीविका अर्जित करने में सक्षम, सही आजीविका और आपका जीवन उद्देश्य अनुभवात्मक सीखने की विधि, भारत में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिश


कोई व्यक्ति जीवन के विभिन्न कालावधियों में जिस क्षेत्र में काम करता या जो काम करता है, उसी को उसकी आजीविका (Livelihood) या 'Instinct' या रोजगार या करिअर (Career) कहते हैं। आजीविका प्रायः ऐसे कार्यों को कहते हैं जिससे जीविकोपार्जन (Earning) होता है। jaise-इंजिनीयर, शिक्षक, डाक्टर, वकील, प्रबन्धक, श्रमिक, कलाकार, आदि कुछ आजीविकाएँ (Livelihoods) हैं।


सही आजीविका अपने जीवन उद्देश्य


इस पोस्ट में आपको Livelihoods के बारे बताने की पूरी कोसिस करेंगे, जीवन उद्देश्य आपको अपनी सही आजीविका के पहलुओं की पहचान करने में मदद करने के लिए एक छोटी-सी तकनीक batane जा रहा हूँ। एक क्षण के लिए, उस कार्य के बारे में सोचें जो आप अभी कर रहे हैं।


उदाहरण के लिए, यदि आपका जीवन उद्देश्य सिखना है, तो आप एक Seminar leader, स्कूल शिक्षक बन सकते हैं, या विकासशील राष्ट्रों में काम कर सकते हैं। ताकि लोगों को उनके रहने की स्थिति में सुधार हो सके। यद्यपि आपका जीवन उद्देश्य अपरिवर्तनीय है, आपकी सही आजीविका (Good Livelihood) हमेशा परिवर्तन के अधीन है। एक व्यक्ति आसानी से शिक्षण के अपने जीवन उद्देश्य (Life purpose) के सभी तीन पहलुओं का अनुभव कर सकता था।


जीवन या आजीविका (Life or livelihood) एक अलग इकाई नहीं है, लेकिन दोनों एक दूसरे के पूरक हैं। केवल aajivika और कोई भी jeevan उतना कठिन नहीं है जितना कि केवल जीवन और कोई आजीविका। इसलिए, प्रत्येक विकासशील व्यक्ति को बेहतर और स्वस्थ भविष्य के लिए जीवन कौशल (life skills) शिक्षा कि क्रांतिकारी अवधारणा के माध्यम से jeevan और ajivika को जोड़ने का प्रयास करना चाहिए।


जीवन कौशल शिक्षा विकासशील लक्ष्यों के लिए


जीवन कौशल (life skills) शिक्षा विकासशील व्यक्तियों को पीछे की ओर काम करने के लिए आमंत्रित करती है, पहले वर्तमान गति पर ब्रेक लगाती है, एक पड़ाव लेती है, एक-आत्म को behatar ढंग से देखती है, अपने आप को पूर्ण रूप से जानती है और जिस गति से वह आगे बढ़ रही है उस गति को पुनः प्राप्त करती है, अपने दिशा को साकार करती है अपने लक्ष्यों के लिए इस प्रकार कार्यवाही की अपनी अंतिम पंक्ति और नए की तुलना करना।


दृष्टिकोण जो उसे सही ढंग से दुखी करता है, उसे अपने हाथों में शासन लेने में सक्षम बनाता है, उसे jeevan के सभी क्षेत्रों में अपने लक्ष्यों तक पहुँचने के लिए सही और उपयुक्त ड्राइव प्रदान करता है-पेशेवर, व्यक्तिगत और आध्यात्मिक (Personal and spiritual) समाज में आगे के प्रबुद्धता में एक विस्तारित लिंक यह फिर से बनाया गया मानव है जो स्वयं प्रकृति के लिए एक महान सेवा है।


विकासशील व्यक्तियों की पसंद होनी चाहिए।


परिवर्तन हो या Parivartan से निपटने के लिए तैयार रहें जो विकासशील व्यक्तियों की पसंद होनी चाहिए। योग्यतम की उत्तरजीविता ही हुआ करती थी, लेकिन आज इसे सबसे बुद्धिमान लोगों के अस्तित्व से बदल दिया गया है। बुद्धि नियम (Rule of wisdom) को बढ़ावा देती है, यह एक ऐसी चीज है जिसका अस्तित्व का एक अलग क्षेत्र है, इसे तथ्यों, आंकड़ों, तर्क और बुनियादी बातों के Silo तक सीमित नहीं किया जा सकता है, यह एक व्यक्ति के अंदर रहता है, लेकिन किसी को इसके बारे में गहराई से समझना होगा और यहाँ जीवन कौशल (life skills) की भूमिका आती है।


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा जीवन कौशल को "अनुकूली और सकारात्मक व्यवहार के लिए क्षमताओं के रूप में परिभाषित किया गया है जो व्यक्तियों को रोजमर्रा कि ज़िन्दगी की मांगों और चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने में सक्षम बनाता है"। किसी व्यक्ति को तथाकथित Unemployed क्षेत्र का पता लगाने के लिए आवश्यक समय देने के लिए विषय सबसे पहले तैयार होना चाहिए। उसे अलग किए गए स्व की कल्पना करनी चाहिए जो इस यात्रा के लिए शुरुआती बिंदु बन सकता है।


वर्तमान शिक्षा प्रणाली छात्रों को आजीविका कमाने (ajivika kamane) के लिए सक्षम करने के लिए आवश्यक कठिन कौशल प्रदान करने के लिए अच्छी तरह से निपुण है। अब सवाल उठता है कि ऐसा कौन-सा मौका है कि व्यक्ति संगठन (Individual organization) के अंदर और बाहर प्रतिस्पर्धा के मौजूदा परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए आजीविका (Livelihood) को बनाए रखने में सक्षम होगा? यह व्यक्ति को ख़ुद को उस स्थिति में खोजने के लिए कड़ी मेहनत करता है, जहाँ वह एक अंतर्देशीय बनाने के लिए चिंतित है।


आजीविका अर्जित करने में सक्षम


एक छात्र जो अच्छी तरह से पढ़ाया जाता है वह आजीविका अर्जित (Earn a living) करने में सक्षम है, लेकिन जीवन कौशल शिक्षा उसे न केवल आजीविका बनाए रखने में सक्षम बनाती है, बल्कि पेशेवर और व्यक्तिगत मोर्चे में अपनी जिम्मेदारियों की आवश्यकताओं के साथ ख़ुद को संरेखित करने में सक्षम बनाती है। जीवन कौशल से संतुष्टि की भावना उत्पन्न करने में मदद मिलती है, स्वयं की बेहतर समझ, संगठन और परिवार अंततः उसे समाज के सदस्य के रूप में विकसित करने के लिए आह्वान करते हैं। वह लोगों के जीवन को सामान्य रूप से बदलने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


लेकिन यह सब होने के लिए उसे समय और प्रयास की बहुत आवश्यकता है। छात्र के एकीकृत विकास (Integrated development) के लिए सोचना चाहिए जो स्वयं उस संगठन के लिए बहुत अधिक महत्त्व रखता है जो वह उस Jeevan के लिए काम करता है जिसके लिए वह जीवन यापन करता है। जीवन से निपटने में कठिनाई का संकेत एक ऐसे बिंदु पर दिया जाता है जहाँ एक व्यक्ति पता है, लेकिन मैं उसकी मदद नहीं कर सकता है।


अनुभवात्मक सीखने की विधि


मेरा मानना ​​है कि आप वही हैं जो आप हैं, इसके अलावा कोई भी आपको ख़ुद को खोजने में सक्षम बनाता है। जीवन कौशल शिक्षा में अनुभवात्मक सीखने (Experiential learning) की विधि किसी के वास्तविक स्वयं की व्यापक समझ है जो आगे के तरीकों को स्पष्ट करती है जिसमें किसी भी अचानक और धीमी गति से उतार-चढ़ाव को सौहार्दपूर्वक, बुद्धिमानी और मुखरता से निपटाया जाता है।


ज्ञान, दृष्टिकोण, कौशल और मूल्य किसी भी व्यक्ति को हमारे राष्ट्र के संगठित और अधिक ज़िम्मेदार नागरिक के रूप में विकसित करने में मदद करेंगे। स्कूलों और कॉलेजों के प्रबंधन को आगे आना चाहिए और चमक और समृद्धि के लिए प्रत्येक बढ़ते और विकासशील व्यक्तियों (Developing individuals) की मदद करने के लिए सामान्य शैक्षणिक पाठ्यक्रम के साथ जीवन कौशल शिक्षा कार्यक्रम को जोड़ने के लिए मज़बूत ज़ोर देना चाहिए। वे सिर्फ़ आजीविका के पहलू पर ध्यान केंद्रित नहीं करते हैं, बल्कि आजीविका के ईंधन पर अधिक ध्यान देना चाहिए जो कि जीवन कौशल है।


सही आजीविका और आपका जीवन उद्देश्य


बहुत कम लोगों के पास एक नौकरी है। यहाँ तक ​​कि डॉक्टर और वकील जैसे पेशेवर जिनके पास अपने व्यवसायों में समय और धन का भारी निवेश है, वे अपनी सही आजीविका (Livelihood) बदल रहे हैं। उदाहरण के लिए, मैं कई वकीलों को जानता हूँ जिन्होंने कानून का अभ्यास करने से लेकर जीवन कोच बनने तक अपनी आजीविका को स्थानांतरित कर दिया है।


यह बहुत सरल है। आप जो करते हैं उससे प्यार करते हैं। वास्तव में, आप इसे इतना प्यार करते हैं कि आप इसे करना बंद नहीं करना चाहते हैं। जब आप इसे कर रहे होते हैं तो आप समय का सारा हिसाब खो देते हैं। आप पैसे के कारण ऐसा नहीं कर रहे हैं-कई मामलों में जो पैसा आपको मिलता है वह वही करते हैं जो आपको प्यार करता है या कम से कम हो सकता है। इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता। आप इसे वैसे भी करते रहेंगे, क्योंकि आप अपनी मदद नहीं कर सकते। कुछ भी करने से खाली और मजबूर महसूस होता है।


प्रत्येक को किसी न किसी स्तर पर अपना जीवनयापन (Living) करने के लिये जीविकोपार्जन का साधन चुनना पड़ता है। व्यापार का क्षेत्र, स्वरोजगार तथा सवेतन रोजगार के अनगिनत अवसर प्रदान करता है। आज स्वरोजगार, बेरोजगारी दूर करने का एक अति उत्तम विकल्प है जिससे देश की उन्नति भी होती है। स्वयं के लिये कार्य करना अपने आप में एक चुनौती तथा प्रसन्नता है।


भारत में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन


भारत सरकार द्वारा ग्रामीण विकास (Rural development) मंत्रालय का उददेश्य ग्रामीण गरीब परिवारों को देश की मुख्यधारा से जोड़ना, विभिन्न कार्यक्रमों के जरिये उनकी ग़रीबी को दूर करना है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार मंत्रालय ने जून, 2011 में आजीविका-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (NRLM) की शुरूआत की थी।


आजीविका-NRLM का मुख्य उददेश्य गरीब ग्रामीणों को सक्षम और प्रभावशाली संस्थागत मंच प्रदान कर उनकी आजीविका में निरंतर वद्धि करना, वित्तीय सेवाओं तक उनकी बेहतर और सरल तरीके से पहुँच बनाना और उनकी पारिवारिक आय को बढ़ाना है। इसके लिए मंत्रालय को विश्व बैंक से आर्थिक सहायता मिलती है।


पोस्ट निष्कर्ष


आपने इस पोस्ट है जो टॉप जॉब ज्ञान से ली गई है। इसमें आपने आजीविका को अपने जीवन में लक्ष्य बनाना या उद्देश बनाना, jeevan me ajivika ko anukul kaise banaye आशा है आपको हमारी यह पोस्ट ज़रूर पसंद आई होगी, ज्ञानवर्धक लगी होगी, अपने दोस्तों के साथ इस आर्टिकल को ज़्यादा से ज़्यादा साझा करें। धन्यवाद ऑल द बेस्ट

Read more some post

  1. प्राइवेट नौकरी के लिए क्या करना चाहिए?
  2. berojgari kya hai-बेरोजगारी से कैसे निपटें?
  3. जॉब कैसे मिलेगा मुझे जॉब चाहिए कुछ जानकारी 

Share:

No comments:

Post a comment

आपके कमेन्ट की सराहना करते है

Follow by Email

Popular Posts